पोस्ट में पूछे जाने वाले सवालों का उत्तर और पाठ या अध्याय को पढ़ने या वीडियो देखने के बाद आपने जो भी सीखा ? उसे आप हमें COMMENT BOX में लिख कर भेज सकते हैं ताकि अन्य विद्यार्थी भी लाभान्वित हो सके.

नर्मदा का उद्गम -अमरकंटक (लेख ) डॉ. श्रीराम परिहार हिंदी कक्षा 10 वीं पाठ 1.2

0

श्रीराम परिहार का जीवन परिचय

जन्म

16 जनवरी 1952, फेफरिया, खंडवा (मध्य प्रदेश)

भाषा

हिंदी

विधाएँ

निबंध, गीत, यात्रा वृत्तांत, लोक साहित्य

मुख्य कृतियाँ

निबंध संग्रह : आँच अलाव की, अँधेरे में उम्मीद, बजे तो वंशी, गूँजे तो शंख, ठिठके पल पँखुरी पर, रसवंती बोलो तो, झरते फूल हरसिंगार के, धूप का अवसाद, हँसा कहो पुरातन बात, भय के बीच भरोसा, परम्परा का पुनराख्यान, रचनात्मकता और उत्तर परंपरा
नवगीत संग्रह : चौकस रहना है
लोक साहित्य : कहे जन सिंगा
यात्रा वृत्तांत : संस्कृति सलिला नर्मदा
शोध : ललित निबंध : स्वरूप एवं परम्परा
संपादन : अक्षत (ललित निबंध एवं नवगीत केंद्रित पत्रिका)

सम्मान

वागीश्वरी पुरस्कार (ललित निबंध पर हिंदी साहित्य सम्मेलन, भोपाल द्वारा), निर्मल पुरस्कार, माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पुरस्कार, अखिल भारतीय अंबिकाप्रसाद दिव्य स्मृति पुरस्कार, चक्रधर सम्मान,  संत सिंगाजी पुरस्कार, अभिनव शब्द-शिल्पी सम्मान, राष्ट्र धर्म गौरव सम्मान, राष्ट्रीय हिंदी सेवी सहस्त्राब्दी सम्मान (विश्व हिंदी सम्मेलन, दिल्ली), सारस्वत सम्मान (म.प्र. लेखक संघ, भोपाल), हिमालय कला एवं साहित्य सम्मान (श्रीनगर गढ़वाल, उत्तराखंड)

हिंदी कक्षा 10 वीं पाठ 1.2 नर्मदा का उद्गम -अमरकंटक (लेख ) डॉ. श्रीराम परिहार

Leave A Reply

Your email address will not be published.