STUDY MATERIAL ONLINE
CLASS 1ST TO CLASS 12 TH

कक्षा 1 हिन्दी पाठ 1- आम की टोकरी [Hindi Lesson 1- Aam ki tokari]

4

पाठ 1 आम की टोकरी(Aam ki tokari)

अपेक्षित पूर्वज्ञान (Expected foreknowledge)

  1. फलों के नाम से परिचित है.
  2. बाज़ार में फलवाले को फल बेचते हुए देखा है.

हम इस पाठ से सीखेंगे (We will learn from this lesson )

  • 1.बच्चों में कविता के प्रति रुचि जागृत होगी।
  • 2.बच्चों में अभिनय के प्रति रुचि जागृत होगी।
Aam ki tokari

बच्चों के क्रियाकलापों से खुद को जोड़ना, स्थानीय परिवेश व वातावरण को गहरे से समझना हिन्दी भाषा की पाठ्यचर्या का हिस्सा हैं। इस लिहाज से यह कविता बेहद उपयुक्त, सारगर्भित और बच्चों के जीवन से जुड़ी है।

Aam ki tokari

आम की टोकरी कविता {पीडीऍफ़ फाइल }

आम की टोकरी [Aam ki tokari]

छह साल की छोकरी,
भरकर लाई टोकरी।

टोकरी में आम हैं,
नहीं बताती दाम है।

दिखा-दिखाकर टोकरी,
हमें बुलाती छोकरी।

हम को देती आम है,
नहीं बुलाती नाम है।

नाम नहीं अब पूछना,
हमें आम है चूसना।

आम की टोकरी कविता की समीक्षा

यह कविता रामकृष्ण शर्मा खद्दर जी की है। यह कविता भारत के राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् द्वारा तैयार की गई किताब रिमझिम 1 का हिस्सा है। यह कविता CGBSE में पाठ 1 के क्रम में बच्चे पढ़ रहे हैं।इस कविता की खास बात यह है कि इसकी पँक्तियों से ‘आ’ और ‘क’ को परिचित कराने के लिए इसे यहाँ विशेष तौर पर रखा गया है। बताता चलूँ कि इससे पहले आए दो पाठों से बच्चे ‘न‘,‘म’,‘अ‘,‘ठ‘,‘ए‘,‘झ‘,‘ल‘,‘ड‘,‘छ‘,‘ई‘ से परिचित हो रहे हैं।

कविता की ‘छोकरी’ कौन है?

अब कविता पर बात करते हैं। इस कविता में जिस छोकरी की बात की जा रही है हो सकता है कि वह स्कूल न जाती हो। घर की परिस्थितियों के चलते वह फलों के मौसम में फल बेचती हो। यह भी हो सकता है कि वह अनाथ हो। उसे खुद ही अपना नाम न पता हो। यह भी संभव है कि यह लड़की जिसका नाम पाठक बच्चे नहीं जानते हैं उनके घर के आस-पास आती हो। उनके गांव-शहर या मुहल्ले में आती हो। यह भी संभव है कि ये पाठक बच्चे जिस स्कूल में पढ़ते हैं, यह छोकरी स्कूल समय में, मध्यांतर में या छुट्टी के समय स्कूल के आस-पास आम बेचने मिल जाती होगी।

परिवेश के बच्चे चर्चा में कहाँ हैं?

एक-क्या बच्चे पाठ्यपुस्तक में पाठ के बहाने उन बच्चों के बारे में न सोचें, जो उन्हें आम जीवन में अपने आस-पास दिखाई देते हैं? जो बाजार में, मेलों में, दुकानों में, सड़कों में कुछ न कुछ सामान बेचते नज़र आते हैं!

सरल अर्थ:-

छोकरी= लड़की, दाम=कीमत,

बोध प्रश्न:

  • लड़की की उम्र कितनी है?😯
  • लड़की क्या बेच रही है? 🙄
  • आम की कीमत कितना हो सकता है? सोच कर बताएं 😊

अन्य प्रश्न:

आप कितने फलों के नाम जानते हैं? Comment box में लिख कर भेजिये।

🍋🍎🍏🍒🍓🍇

महत्वपूर्ण प्रश्न ( Important questions)

ऐसे बच्चे, जो घर के काम से स्कूल नहीं आ पाते, उनकी मदद कैसे करेंगे?

कविता से जुड़े बच्चों के सवाल जो हमारे ध्यान खींचते हैं,

एक- छोकरी का क्या नाम रहा होगा?

दो- टोकरी में कितने आम रहे होंगे?

तीन- वह बच्चों को नाम से क्यों नहीं बुला रही थी?

चार- लड़की आम कहाँ से लाई होगी?

पाँच- एक टोकरी में कितने आम आ सकते हैं?

छःह- छह साल की लड़की कितना वजन उठा सकती है?

सात- पेड़ एक साल छोड़कर आम क्यों देता है?

आठ- लड़की आमों के दाम क्यों नहीं बताती?

नौ- टोकरी के आम कितने रुपए में बिके होंगे?

दस- ऐसी लड़कियाँ क्या-क्या काम कर सकती हैं?

ग्यारह- इस कविता के और क्या-क्या शीर्षक हो सकते हैं?

बारह- यदि आम चालीस रुपए किलों हैं तो लड़की के आम कितने के बिके होंगे?

तेरह- टोकरियां किस-किस चीज़ की बनी होती हैं?

चैदह- टोकरियों में क्या-क्या चीज़ें रखी जा सकती हैं?

पन्द्रह- आम के सीजन के बाद लड़की टोकरी का क्या करती होगी?

सोलह- लड़की आम के मौसम को छोड़कर क्या बेचती होगी?