STUDY MATERIAL ONLINE
CLASS 1ST TO CLASS 12 TH

अम्ल क्षार एवं लवण कक्षा 10वीं विज्ञान पाठ 2

0

अम्ल क्षार एवं लवण कक्षा 10वीं विज्ञान पाठ 2

उदासीनीकरण अभिक्रिया

अम्ल और क्षार के बीच अभिक्रिया होने पर लवण और जल का निर्माण होता है, इस अभिक्रिया को उदासीनीकरण अभिक्रिया कहते हैं।
अम्ल एवं क्षार के जलीय विलयन विद्युत का चालन करते हैं क्योंकि वे अपने अवयवी आयनों में विभक्त हो जाते हैं। अम्ल में H आयन तथा एक ऋण आवेशित आयन तथा क्षार में OH आयन और एक धनावेशित आयन बनते हैं।

pH मान


pH मान द्वारा किसी तनु विलयन में हाइड्रोजन आयन (H’) की मात्रा को शून्य से चौदह तक के स्केल में व्यक्त किया जाता है।
किसी उदासीन विलयन का (H+) मान 7, अम्लीय विलयन का pH मान 7 से कम तथा क्षारीय विलयन का pH मान 7 से अधिक होता है।

अम्ल क्षार एवं लवण


लवण का धनात्मक भाग क्षारक से आता है जिसे क्षारीय मूलक तथा ऋणात्मक भाग अम्ल से आता है जिसे अम्लीय मूलक कहते हैं।
लवण की प्रकृति अम्लीय, क्षारीय या उदासीन हो सकती है।

महत्वपूर्ण प्रश्न

  • भोज्य पदार्थों में पाए जाने वाले किन्हीं दो अम्लों के नाम लिखिए।
  • घ्राण सूचक के दवारा अम्ल तथा क्षार की पहचान कैसे की जाती है?
  • ताजे दूध के pH का मान 6 होता है। दही बन जाने पर इसके pH में क्या परिवर्तन होगा?
कक्षा 10वीं विज्ञान पाठ 2 अम्ल, क्षार एवं लवण